जिला उद्योग केंद्र से 25 लाख तक का लोन 35 % सब्सिडी पर लें

अगर आप भी अपना उद्यम शुरू करना चाहते हैं, आपके पास भी कोई अच्छा सा बिज़नेस प्लान है लेकिन पैसों की कमी के कारण  शुरू नहीं कर पा रहे हैं तो ये आर्टिकल आपकी बहुत मदद करेगा। इससे आपको हर एक बात पूरी तरह समझ आ जाएगी कि क्या आप लोन ले सकते हैं और अगर हाँ, तो कैसे ? ये सब आपको इसमें जानने को मिलेगा।

 

जिला उद्योग केंद्र क्या है ?

सरकार द्वारा उद्योग धंधों को प्रोत्साहित करने के लिए हर एक जिले में एक जिला उद्योग केंद्र की स्थापना की हुई है।  यहां से आप ट्रैंनिंग लेकर उस सर्टिफिकेट की मदद से बैंक से सब्सिडी पर लोन ले सकते हो। 

कौन - कौन व्यक्ति इस योजना का लाभ ले सकता है ?

कोई भी व्यक्ति, 18 वर्ष से ऊपर PMEGP के तहत परियोजनाओं को स्थापित करने के लिए सहायता के लिए कोई आय सीमा नहीं होगी।     
विनिर्माण क्षेत्र में 10 लाख रुपये से अधिक की लागत वाली परियोजना की स्थापना के लिए और इससे अधिक रुपये। 
व्यवसाय / सेवा क्षेत्र में 5 लाख, लाभार्थियों के पास कम से कम आठवीं कक्षा पास शैक्षिक योग्यता होनी चाहिए।     
इस योजना के तहत सहायता केवल पीएमईजीपी के तहत विशेष रूप से स्वीकृत नई परियोजनाओं के लिए उपलब्ध है।     
स्वयं सहायता समूह (जिनमें बीपीएल से संबंधित लोग शामिल हैं, बशर्ते कि उन्होंने किसी अन्य योजना के तहत लाभ नहीं लिया है) भी पीएमईजीपी के तहत सहायता के लिए पात्र हैं।   

सोसायटी पंजीकरण अधिनियम, 1860 के तहत पंजीकृत संस्थान; उत्पादन सहकारी समितियाँ, और धर्मार्थ न्यास।     
मौजूदा इकाइयाँ (PMRY, REGP या भारत सरकार या राज्य सरकार की किसी भी अन्य योजना के तहत) और वे इकाइयाँ जो भारत सरकार या राज्य सरकार की किसी अन्य योजना के तहत सरकारी सब्सिडी प्राप्त कर चुकी हैं, पात्र नहीं हैं।

फार्म अप्लाई करते समय जरूरी दस्तावेज कौन कौन से लगेंगे?

अगर बात की जाए जरूरी दस्तावेजों की तो आपके पास आपका आधार कार्ड, पैन कार्ड, हाईस्कूल/इंटर की मार्कशीट, पासपोर्ट साइज फोटो, एक बैंक खाता।   

कुछ और महत्वपूर्ण दस्तावेज आपको देने होंगे 

प्रोजेक्ट रिपोर्ट 
बैलेंस शीट (बैंक प्रयोगार्थ)
जीएसटी सर्टिफिकेट (बैंक प्रयोगार्थ)
ITR (बैंक प्रयोगार्थ) 
परफोर्मा इनवॉइस (बैंक प्रयोगार्थ)
NOC सर्टिफिकेट (बैंक प्रयोगार्थ)

किसी भी योजना में अप्लाई कैसे करते हैं ? 

अप्लाई करने 2 तरीके हैं। पहला है ऑनलाइन और दूसरा है ऑफलाइन। 
ऑनलाइन में आपको https://www.kviconline.gov.in इस वेबसाइट से अप्लाई करना होगा। 
और ऑफलाइन में आपको फार्म का प्रारूप जिला उद्योग केंद्र से ऑफिस से लेना होगा और सभी सम्बंधित कागजात लगा कर वहीँ जमा कर देना होगा।

अंतिम काम

ऊपर दी हुई सभी प्रोसेस को करने के बाद आपको कुछ दिनों में जिला उद्योग केंद्र की तरफ से या तो कॉल आएगा या फिर डाक पोस्ट आएगी। जिसमें आपको इंटरव्यू की डेट के बारे में जानकारी दी हुई होगी। सम्बंधित तारीख को वहां पहुंचकर इंटरव्यू में भाग ले। 

अगर आप इंटरव्यू में सफल होते हैं तो 3 से 4 दिन के अंदर आपकी फाइल आपके बैंक में पहुंच जाएगी। 
फिर आप समय समय पर बैंक जाकर जानकारी लेते रहिएगा। 
और आखिरकार आपका लोन पास हो जायेगा और आप फिर मेहनत से अपने उद्योग को आगे बढ़ाते चले जाएँ। 

अधिक जानकारी के लिए नीचे दी हुई लिंक पर क्लिक करके फॉर्म भर दें, इसके बाद हमारे कस्टमर सपोर्ट अधिकारी आपसे आपके मोबाइल नंबर पर सम्पर्क कर लेंगे और आपकी हर संभव मदद कर देंगे और आपको किसी भी तरह का शुल्क भी नहीं देना होगा।

https://forms.gle/d5YdkhFKU4pPo7BW7 (इस लिंक पर क्लिक करें)

नोट : हमारी तरफ से आपसे कोई भी किसी भी तरह का बैंक खाता नंबर या कोई ओटीपी नहीं पूछेगा और आप कभी भी किसी को अपने बैंक खाते की जानकारी शेयर न करें। 

आओ, मिलकर अपने देश को, तरक्की की तरफ ले जाएँ , जय हिन्द

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 1 सेकेंड में 12 हजार करोड़ रुपये बांट दिये

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार दो दिवसीय दौरे पर कर्नाटक पहुंचे। तुमकुर में उन्होंने प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि की तीसरी किस्त जारी की। मंच पर से ही उन्होंने टैबलेट पर बटन दबाकर ये राशि जारी की। इस दौरान पीएम ने कहा कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के तहत आठ करोड़वें किसान के खाते में पैसा जमा किया गया। साथ ही आज इस कार्यक्रम में एक साथ देश के छह करोड़ किसान परिवारों के खाते में 12 हजार करोड़ रुपये जमा किए गए हैं।  
 
 
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कई राज्यों ने प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना (पीएम-केएसएएन) को राजनीति की वजह से लागू नहीं किया है। ऐसी राजनीतिक मानसिकता ने किसानों को लंबे समय तक चोट पहुंचाई है।

पीएम मोदी ने कहा, 'हर ब्लॉक और जिले से विशिष्ट उत्पादों की पहचान करने और इसके मूल्य को जोड़ने के प्रयास किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि इन उत्पादों की अलग पहचान उनके निर्यात मूल्य में वृद्धि सुनिश्चित करेगी। मुझे उम्मीद है कि नए साल में, उन सभी राज्यों ने जो प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना को लागू नहीं किया है। वे अपने राज्यों में किसानों की मदद करने के लिए राजनीति से ऊपर उठकर इसे लागू करेंगे। इस तरह की राजनीतिक मानसिकता ने किसानों के लाभ को लंबे समय तक चोट पहुंचाई है।'

उन्होंने कहा, देश में एक समय था जब सरकार द्वारा गरीब लोगों के लिए भेजे गए धन का एक बड़ा हिस्सा बिचौलियों द्वारा खा लिया जाता था। गरीब के लिए एक रुपये भेजा जाता था तो सिर्फ 15 पैसे ही उसतक पहुंचते थे। बाकी के 85 पैसे बिचौलिए मार जाते थे। आज सारा धन सीधे गरीबों और किसानों के बैंक खातों में स्थानांतरित किया जा रहा है।

किसान सम्मान निधि की तीसरी किश्त जारी

प्रधानमंत्री मोदी ने पीएम किसान सम्मान निधि की तीसरी किश्त जारी की। उन्होंने किसानों को कृषि सम्मान पुरस्कार भी बांटे। पहली दो किश्त में देशभर के एक करोड़ से अधिक किसानों के लिए करीब दो हजार करोड़ रुपये जारी किए गए थे। इस योजना में हर चार माह में प्रत्येक लाभार्थी को 2,000 रुपये बैंक खाते में ट्रांसफर किए जाते हैं। प्रधानमंत्री ने आठ राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के लाभार्थियों को इसका प्रमाण पत्र सौंपा।



प्रधानमंत्री उत्कृष्ट किसानों को कृषि कर्मण अवॉर्ड और प्रशस्ति पत्र प्रदान किया। इसके अलावा, मोदी ने तमिलनाडु के चयनित किसानों को गहरे समुद्र में मछली पकड़ने वाली नौकाओं और ट्रांसपोर्डर्स की चाबी सौंपी। उन्होंने कर्नाटक के चुनिंदा किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड भी बांटे। उन्होंने कहा कि सरकार किसानों की स्थिति में सुधार के लिए निरंतर प्रयास कर रही है।

उन्होंने कहा, 'दशकों से चली आ रही सिंचाई योजनाएं, मृदा स्वास्थ्य कार्ड और अन्य सभी योजनाएं किसानों के कल्याण को ध्यान में रखते हुए बनाई गईं हैं। हमारी सरकार ने देश के किसानों की मांगों के अनुरूप न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) में 1.5 गुना वृद्धि की है। हमारे सरकार के प्रयासों के कारण, भारत में मसाले के उत्पादन में 25 लाख टन से अधिक की वृद्धि हुई है, और इसका निर्यात भी 15 हजार करोड़ से बढ़कर लगभग 19,000 करोड़ रुपये हो गया है।
Source: AmarUjala

केजरीवाल के इस फैसले से सबको लगेगा भयंकर झटका

जैसा कि आपको पता है कि दिल्ली एक केंद्र शासित प्रदेश है और दिल्ली के मुख्यमंत्री हैं अरविन्द केजरीवाल।  और आप सोशल मिडिया में ज्यादातर लोगो को इन्हे गलियां देते और ज्यादातर लोगों को आप इनकी तारीफ़ करते सुनेंगे। फेसबुक पर सबसे ज्यादा इनको ट्रोल किया गया है। काफी बार ये अपनी बयानबाजी को लेकर फसते दिखाई दिए है और काफी बार लोग जबरदस्ती इनका मजाक बनाते हैं। 

आपको बताता चलूँ कि केजरीवाल सरकार ने अपने कार्यकाल में दिल्ली में प्रदूषण को 25 % तक काम कर दिया है और शिक्षा के स्तर को काफी हद तक सुधार दिया है। दिल्ली के काफी स्कूलों की इमारतों को बहुत ही शानदार बना दिया है, स्कूलों में ही स्वीमिंग पूल और खेलने से लेकर कंप्यूटर की अच्छी खाशी लैब  हैं।

युवा खिलाडियों के लिए दिल्ली में अब खेल में स्नातक होने के लिए यूनिवर्सिटी का निर्माड का काम शुरू करा दिया है।

लोगो के बिजली के बिल माफ़ कर दिए, 10,000 लीटर पानी मुफ्त कर दिया है। पूरी दिल्ली में सीसीटीवी और लाइट्स लगवाना शुरू कर दी हैं, और सबसे बड़ा अस्पतालों में इलाज मुफ्त कर दिया है।

ये भी पढ़ें : कैसे रोजाना ₹5500 सिर्फ अपने मोबाइल से कमाएं

आपको बता दूँ कि दिल्ली के इस कदर के विकास की चर्चा विदेशों में भी है।

अभी अरविन्द केजरीवाल को कोपेनहेगन, डेनमार्क के C40 समिट का आमंत्रण आया था लेकिन भारत सरकार (विदेश मंत्रालय) ने अरविन्द केजरीवाल को वहाँ जाने की अनुमति नहीं दी।

भारत के हर नागरिक को काम की तारीफ करनी चाहिए क्यूंकि पूरे विश्व की नजरें दिल्ली सरकार पर हैं।

और दिल्ली सरकार ने ये तो बता दिया कि अगर भ्रष्टाचार न हो तो किस हद तक विकास किया जा सकता है।

ये भी पढ़ें : सिर्फ 15 मिनट* में अपने बैंक खाते में तुरंत ऋण और पैसा प्राप्त करें


और सबसे महत्वपूर्ण बात - दिल्ली सरकार ये सभी सुबिधायें दिल्ली के लोगों के टैक्स के पैसे से दे रही है, जो आप केंद्र सरकार को भी देते हो। और दिल्ली का बजट इन सब सुबिधाओं के बाबजूद भी दोगुना हो गया है।

अब बात करते हैं कि अरविन्द केजरीवाल ने क्या नया एलान किया है।



इससे फायदा ये होगा कि अब आप उद्यमिता में सीधे तौर पर पढ़ाई कर पाएंगे।

मुझे केजरीवाल सरकार के द्वारा किये गए अब तक सभी काम बिलकुल सही लगे। अब आप बताइये की आप की इस बारे में क्या राय है।
कमेंट करके हमें जरूर बताएं। और अच्छा लगा हो तो दोस्तों के साथ फेसबुक पर शेयर करें और व्हाट्सप्प करें।

50% की छूट मोबाइल पर, जल्दी खरीदिये

आजकल ऑनलाइन सेल चल रही  है और मोबाईल बहुत ही सस्ते सस्ते मिल रहे हैं तो फिर देर किस बात की तुरंत नीचे दी हुई फोटो पर क्लिक करें।

https://www.amazon.in/b?_encoding=UTF8&tag=swisternews-21&linkCode=ur2&linkId=a98fcbe5f601412b73887aeceb524775&camp=3638&creative=24630&node=3561110031

Amazon.in


Flipkart.com

सिर्फ 15 मिनट* में अपने बैंक खाते में तुरंत ऋण और पैसा प्राप्त करें

पैसा-पैसा-पैसा , सभी को पैसों की जरूरत है और सभी लोग किसी न किसी तरह से पैसों को कमा भी रहे हैं। तो ऐसे में भला ये सबाल तो उठना लाजिमी है कि मेरे पास अब पैसे ख़तम हो गए हैं अब कही से तुरंत इंतजाम करना होगा। और जब जरूरते बड़ी होती हैं तब हम कोई न कोई रास्ता  निकलते है कि  कहीं कोई हमारी मदद  कर दे।

पैसे हम किससे उधार ले सकते हैं ? 

पैसे उधार पर लेने देने की प्रथा तो पुराने काल से चली आ रही है। जब किसी व्यक्ति को अत्यंत पैसों की जरूरत होती है तो वह व्यक्ति किसी भी हद तक जाने के लिए तैयार हो सकता है, क्यूंकि उस समय उसकी मूलभूत जरूरत पैसा होती है। और हमें ऐसा देखने को भी मिला है कि ऐसे समय में लोग दूसरों का फायदा उठाकर कुछ भी करवा लेते हैं। और मजबूरीबस इंसान को वो काम न चाहते हुए भी करना होता है। 
अक्सर पैसों को लेने देने का काम धनाढ्य व्यक्ति ही करते आये हैं या फिर यूँ कहें कि जिनमे व्यापारिक प्रवृति होती है। लेकिन ये लोग अभी भी सक्रिय हैं। 


 अमूमन हम पैसों के लिए बनियों, बैंकों, मित्रों, रिश्तेदारों आदि के पास जाते हैं। हमें ये फर्क नहीं पड़ता कि जरूरत के समय वो लोग हमसे कितना ब्याज बसूल कर रहे हैं। 
इसलिए हमें हमेशा बैंकों से ही कर्जा लेने की कोशिश करनी चाहिए अगर धनराशि ज्यादा हो तो। लेकिन अगर आपको तुरंत अपने अकाउंट में पैसे चाहिए और वो भी बहुत कम तो आप फिर इस आर्टिकल को पढ़ते रहिये, नीचे इसके बारे में हम आपको सारी जानकारी दे देंगे। 

कैसे आते हैं 15 मिनट* में पैसे अकाउंट में

पहले की तुलना में अब बहुत सारा समय के अनुसार बदलाव आ गया है, अधिकतर जरूरत की चीजें, किसी से मिलना, परामर्श लेना, पढ़ना आजकल सब ऑनलाइन हो गया है। यहां तक कि घर बैठे ऑनलाइन खाना भी मंगवा सकते हैं। इसे सच में एक बहुत बड़ी तरक्की कहा जाए तो कोई दोराय नहीं है। 


कुछ NBFCs ने ये सुबिधा निकाली है कि अगर कोई व्यक्ति कहीं नौकरी करता है या फिर उसका कोई खुद का बिज़नेस है। तो वह इस लोन के लिए Eligible  है, वशर्ते उसके पास उसका खुद का एक आधार कार्ड, पैन कार्ड, और एक बैंक अकाउंट जरूर होना चाहिए।  
और सबसे जरूरी बात आधार कार्ड मोबाईल नंबर से लिंक जरूर होना चाहिए। 

अब आपके मन में एक सबाल उठ रहा होगा कि तो फिर आते कैसे हैं पैसे ?
  • आपको इन NBFCs के मोबाइल एप्लीकेशन को सबसे पहले इन्सटॉल करना होता है। 
  • फिर अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया को आगे बढ़ाना होता है। 
  • उसके बाद आधार कार्ड और पैन कार्ड की डिटेल्स को फइलल करते हुए वाक़ि की फॉर्मलिटीज करनी  होती हैं। 
  • और इसके बाद आपके लोकेशन और पैन कार्ड के हिसाब से आपको एक लिमिट दे दी जाती है जिससे फिर आप अपनी जरूरत के अनुसार पैसे ले सकते हैं। 
और हाँ, ये ज्यादातर 15 मिनट के अंदर ही आपके बैंक अकॉउंट में आ जाते हैं।

नोट : ये ऍप्लिकेशन्स आपकी लोकेशन को एक्सेस करते हैं तो याद रखें, जब आप किसी शहर में हों तभी इसकी प्रोसेस को कम्पलीट करें। नहीं तो ये नॉट सर्बिसेबिल एरिया दिखा देगा।

नीचे कुछ ऍप्लिकेशन्स के लिंक दे रहा हूँ जिन्हे आप इनस्टॉल करके अपनी लिमिट्स चेक कर सकते हैं 

Kreditbee ( रेफरल कोड है DIVDXBA6B),