महाराष्ट्र पुलिस के ADG 'सुपरकॉप' हिमांशु राय ने खुद को मारी गोली, जीटी अस्‍पताल लाया गया पार्थिव शरीर

swister-news-blog

नई दिल्‍ली/मुंबई : महाराष्‍ट्र से बड़ी खबर है. यहां महाराष्‍ट्र पुलिस में एडीजी हिमांशु राय ने शुक्रवार को खुद को गोली मारकर आत्‍महत्‍या कर ली. उन्‍होंने अपने सरकारी आवास में मुंह में रिवॉल्‍वर रखकर गोली चला दी. इसके बाद उन्‍हें नजदीकी बॉम्‍बे हॉस्पिटल ले जाया गया, जहां उन्‍हें मृत घोषित कर दिया गया. हिमांशु राय को सुपरकॉप कहा जाता था. हिमांशु ने कई अहम पदों पर काम करते हुए बड़े क्रिमिनल केसों को सुलझाया था.

बॉम्‍बे हॉस्पिटल से मिली जानकारी के अनुसार, 1988 बैच के आईपीएस अफसर हिमांशु बोनमैरो कैंसर (Bone Marrow Cancer) से पीड़ित थे और उनकी कीमोथैरेपी चल रही थी. बताया जा रहा है कि लंबी बीमारी की वजह से वह काफी डिप्रेशन थे. संभावना जताई जा रही है कि इसी वजह से उन्‍हें यह कदम उठाया. जानकारी के अनुसार वह 2016 के बाद से अपने ऑफिस भी नहीं जा रहे थे. वह लंबी छुट्टी पर चल रहे थे. उनकी बीमारी पर काफी खर्चा हो रहा था और उपचार के लिए उन्‍हें कई बार विदेश भी जाना पड़ा.
ये भी पढ़ें : हिमांशु रॉय: अकेले ऐसे पुलिस ऑफिसर, जिन्हें मिली थी Z+ सुरक्षा, अंडरवर्ल्ड से था खतरा

हिमांशु के पार्थिव शरीर को जीटी अस्‍पताल लाया गया है. यहां उनका पोस्‍टमॉर्टम किया जा सकता है. इस घटना की जानकारी मिलने के बाद मुंबई पुलिस कमिश्‍नर दत्‍ता पडसलगीकर बॉम्‍बे हॉस्पिटल पहुंच गए.


हिमांशु आईपीएल स्‍पॉट फिक्सिंग केस और पत्रकार जेडे हत्‍याकांड के अलावा कई बड़े केसों पर भी काम कर चुके हैं. हिमांशु ने साल 2013 में आईपीएल स्‍पॉट फिक्सिंग केस में अभिनेता विंदु दारा सिंह को बुकिज से कथित लिंक के चलते गिरफ्तार किया था. इसके अलावा उन्‍होंने विजय पालंदे और लैला खान दोहरे हत्‍याकांड और पल्लवी पुर्खायस्ता हत्‍याकांड की भी जांच की.
इन अहम पदों पर रहे हिमांशु...
1995 में एसी नासिक (ग्रामीण) रहे
एसपी अहमदनगर, डीसीपी (आर्थिक अपराध शाखा)
डीसीपी यातायात, डीसीपी जोन-1, और पुलिस आयुक्त, नासिक, (2004-2007)
2009 में मुंबई के संयुक्‍त आयुक्त
एटीएस महाराष्ट्र के चीफ रहे
महाराष्ट्र के अतिरिक्त महानिदेशक (योजना और समन्वय)
एडीजीपी (स्थापना) महाराष्ट्र
Previous Post
Next Post
Related Posts